Press "Enter" to skip to content

गरीबी के कारण भी बढ़ती है हिंसा : जिल कार-हैरिस…

  • संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए आगे आएं युवा : रामा नागा
  • हर स्तर पर है समानता की जरूरत: पूनम श्रोती
  • गांधीवादी मूल्यों के साथ बेहतर समाज बनाने की चर्चा की युवाओं ने
  • जय जगत युवा सम्मेलन में शामिल होंगी प्लेबैक सिंगर मेघा डाल्टन

न्यूज़क्रस्ट संवाददाता।।

समाज में आज हर स्तर पर समानता की आवश्यकता है। मैंने असमानता को हर जगह पाया। अपने जन्म से लेकर आज तक मैंने पढ़ाई, नौकरी और हर अवसर पर मानसिक व सामाजिक स्तर पर असमानता का सामना किया है। मैं इसके विरुद्ध आवाज उठा रही हूं और इसमें सबका सहयोग चाहिए जो बदलाव लाएगा। यह कहना है अपने प्रयासों के लिए राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त पूनम श्रोती का। उन्होंने यह बात शनिवार को भोपाल के गांधी भवन में जारी “जय जगत 2020” यात्रा के तहत आयोजित युवा सम्मेलन में कही।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व महासचिव रामा नागा ने कहा कि वर्तमान समय में एक ओर समाज में विभिन्न तरह की हिंसा बढ़ रही है, तो दूसरी ओर संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक मूल्यों पर भी हमला किया जा रहा है। ऐसे में युवाओं को संवैधानिक मूल्यों की रक्षा के लिए आगे आना होगा। गांधी जी, नेहरु और भगत सिंह जैसी कई हस्तियों ने देश के लिए अपने जीवन को न्यौछार कर दिया। ऐसे लोगों के प्रति नफरत रखने वालों का भी विरोध युवाओं को करना होगा। यदि युवा चुप रहेंगे, तो भविष्य में हालात और मुश्किल होंगे।

अहिंसा, शांति एवं न्याय के लिए शुरू की गई ‘‘जय जगत 2020’’ वैश्विक अभियान के तहत गांधी भवन में जन उत्सव के तहत कई विचार-विमर्श और सांस्कृतिक आयोजन किए जा रहे हैं। जन उत्सव में आज दो दिवसीय युवा सम्मेलन की शुरुआत की गई। सम्मेलन में भोपाल के डीआईजी इरशाद वली और भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने भी युवाओं को संबोधित किया। इन्होंने ‘‘जय जगत 2020’’ यात्रा के विचारों और उद्देश्यों का समर्थन किया। युवा सम्मेलन में जय जगत के चार स्तंभों – गरीबी खत्म करने, सामाजिक बहिष्कार का उन्मूलन, जलवायु संकट पर सक्रियता और संघर्षों एवं हिंसा को खत्म करने पर चर्चा की जा रही है। जन उत्सव में ग्रामीण उत्पाद, जैविक उत्पाद व खान-पान, खादी उत्पाद और गांधीवाद से जुड़े पुस्तकों के स्टॉल भी लगाए गए हैं। एकता परिषद के राष्ट्रीय संयोजक अनीष कुमार ने बताया कि जन उत्सव का समापन कल 1 दिसंबर को शाम में किया जाएगा। कल युवा सम्मेलन में विख्यात प्लेबैक सिंगर मेघा डाल्टन भी शामिल होंगी और उनका परफर्मेंस भी होगा। युवा सम्मेलन में गांधीजी और उनके विचार, जय जगत यात्रा के उद्देश्यों, अहिंसा एवं न्याय, जलवायु संकट और युवाओं की भूमिका पर कल भी सुबह 10 बजे से चर्चा की जाएगी।

जय जगत यात्रा की अगुवाई कर रहे एकता परिषद के संस्थापक राजगोपाल पी.व्ही. ने कहा कि देश में गरीबी, हिंसा, जलवायु संकट और सामाजिक रूप से बहिष्कार जैसे मुद्दों के पीछे अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय नीतियां हैं। हमें शिक्षा, शासन, सरकार, समाज हर स्तर पर बदलाव के लिए प्रयास करने होंगे। जय जगत की अंतर्राष्ट्रीय समन्वयक जिल कार-हैरिस ने कहा कि जलवायु परिवर्तन, गरीबी और हिंसा में अंतर्संबंध हैं। हिंसा खत्म करने और सबको न्याय दिलाने के लिए गरीबी खत्म करना होगा, भूमिहीनों को भूमि देनी होगी। आदिवासी और हाशिये के समुदाय पर्यावरण के अभिभावक हैं। सम्मेलन में अन्य वक्ताओं ने गरीबी और विकास के आधुनिक मॉडल पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि स्थानीय अर्थव्यवस्था को मजबूत कर गरीबी दूर कर सकते हैं।

यह है खास “जय जगत 2020” यात्रा में…

महात्मा गांधी और कस्तूरबा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर 2 अक्तूबर से दिल्ली के राजघाट से ‘‘जय जगत 2020’’ यात्रा शुरू की गई है। यात्रा में फ्रांस, न्यूजीलैंड, केन्या, बेल्जियम और स्वीट्जरलैंड सहित 15 देशों के शांति दूत भी शामिल हैं। भारत के बाद यह यात्रा 10 देशों से होते हुए अगले साल 25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय जिनेवा पहुंचेंगी, जहां शांति एवं न्याय के लिए समर्पित हजारों लोगों का समागम होगा। भारत में यात्रा 30 जनवरी 2020 को सेवा ग्राम, वर्धा, महाराष्ट्र स्थित गांधी आश्रम पहुंचेगी, जहां बा-बापू की 150वीं एवं आचार्य विनोबा भावे की 125वीं जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में शांति महासभा का आयोजन किया जाएगा। इसके बाद यात्रा अन्य देशों के लिए रवाना हो जाएगी।

More from मध्यप्रदेशMore posts in मध्यप्रदेश »
More from राजनीति एवं शासनMore posts in राजनीति एवं शासन »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *