Press "Enter" to skip to content

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का कैंसर से निधन

जानकारी के मुताबिक अनंत कुमार का इलाज बेंग्लुरु के शंकर कैंसर हॉस्पिटल में चल रहा था। कुछ गंभीर समस्याएं और संक्रमण की वजह से वे कुछ दिनों से वेंटिलेटर पर थे।

न्यूज़क्रस्ट नेटवर्क।।

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का सोमवार सुबह करीब दो बजे बेंग्लुरु में निधन हो गया। वे कैंसर से पीड़ित थे और काफी वक्त से उनका इलाज चल रहा था। 59 साल के अनंत का पहले लंदन और न्यूयॉर्क में इलाज चला और 20 अक्टूबर को ही उन्हें बेंगलुरु लाकर एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था।

यह भी पढ़ें- क्या भारत कैंसर से लड़ने को तैयार है?

शुक्रवार को उनकी पत्नी ने जानकारी दी थी कि अब अनंत ठीक हैं, लेकिन फिर अचनाक उनकी तबीयत कैसे बिगड़ी इसकी फिलहाल जानकारी नहीं है। तब कैंसर के साथ उनको कुछ इन्फेक्शन होने की बात भी सामने आई थी। तबीयत बिगड़ने की वजह से अनंत पिछले कुछ वक्त से कृत्रिम सांस लेनेवाले यंत्र के सहारे थे और उन्हें आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था। अनंत कुमार का पार्थिव शरीर अंतिम दर्शनों के लिए बेंग्लुरु के नेशनल कालेज में रखा जाएगा।
अनंत कुमार के पास दो मंत्रालय की जिम्मेदारी थी।

वे 2014 से केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर मंत्री थे। इसके अलावा वे जुलाई 2016 से संसदीय मामलों के मंत्री भी थे। अनंत 1996 से बेंगलुरु दक्षिण से लोकसभा के सदस्य थे। उनका जन्म 22 जुलाई 1959 को बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने केएस ऑर्ट कॉलेज हुबली से बीए किया था। इसके बाद जेएसएस लॉ कॉलेज से एलएलबी की थी।
उनके परिवार में पत्नी तेजस्विनी, दो बेटियां ऐश्वर्या और विजेता हैं।रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर शोक जताया है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *